Yuzvendra Chahal Hindi Biography (Wiki)

कैसे एक Chess Player ने India के लिए अबतकी सर्वश्रेष्ठ बॉलिंग की ? Yuzvendra Chahal की पूरी कहानी

Yuzvendra Chahal Hindi Biography (Wiki)Yuzvendra Chahal

Parents

Yuzvendra Chahal का जन्म हरियाणा के जींद में मिडल क्लास फैमिली में हुआ था। उनके पिता के के चहल जींद कोर्ट के एडवोकेट है और माँ सुनीता देवी हाऊस वाइफ़ है।
परिवार में सबसे छोटे यूजवेन्द्र की दो बड़ी बहनें है, जो ऑस्ट्रेलिया में रहती है।

Education

यूजवेन्द्र की स्कूली शिक्षा जींद के DAV Public School से हुई, लेकिन उनका पढ़ाई ज्यादा मन नहीं लगता था।

Childhood & Cricket- Chess Love

पर वे क्रिकेट और चेस के बड़े प्रेमी थे। इसलिए मात्र सात की उम्र से चेस खेलन स्टार्ट कर दिया था और साथ ही क्रिकेट भी।
और देखते ही देखते अपने जुनून और कड़ी मेहनत के कारण वे अपने क्षेत्र के दिग्गज चेस मास्टर को मात देने लगे, जिससे उन्हें जल्द ही मात्र 10 की उम्र में राष्ट्रीय स्तर पर चेस में अपना जौहर दिखाने का मौका मिला।
जहां वे 2002 में राष्ट्रीय स्तर पर खेलते हुए अंडर-12 की National Kids Championship जीती, जो उनकी पहली National Championship थी। जिससे उन्हें पहली बार International Level पर ग्रीस में आयोजित Junior World Chess Championship में भारत को रिप्रेजेंट करने का मौका मिला।
इसके अलावा वो Under-16 National Chess Championship का भी हिस्सा रह चुके है।
इस दौरान कभी वे क्रिकेट से अलग नहीं हुए, बल्कि उनके पिता की ख़्वाहिश थी कि बेटा कामयाब हो। इसलिए जब उन्होंने क्रिकेट खेलने की इच्छा जाहीर की तो उन्होंने अपने पुश्तैनी डेढ़ एकड़ जमीन को क्रिकेट पिच के रूप में तैयार करवा दिया, जहां वे नियमित रूप से प्रैक्टिस किया करते थे।
2006 में जब उन्हें अपने चेस गेम के लिए स्पोंसर्स मिलने बंद हो गए तो तब उनके सामने सबसे बड़ी विपदा आई कि कैसे वे इस खेल पर खर्च होने वाले 60 लाख रुपये प्रति साल जुटा पाएंगे।
इसलिए उन्होंने चेस क्विट कर दी और क्रिकेट को ही अपना नं- 1 पैशन बना लिया।

Cricket से जुड़ाव

इसके बाद अपने फ़ैमिली क्रिकेट पिच पर खेलते हुए उन्होंने स्टेट अंडर 14 टीम में अपनी जगह बना ली। इसी तरह स्टेट अंडर-15, 16, 17, 19, 23 और 25 टीम में भी अपनी प्रतिभा दिखाई।
पर वे लाईमलाईट तब आए, जब उन्होंने 2009 में स्टेट अंडर-19 के लिए घातक बॉलिंग करते हुए कुच बिहार ट्रॉफी में सर्वश्रेष्ठ 34 विकेट्स लेनें में कामयाब रहे।
जिसके कारण उन्हें जल्द ही हरियाणा की रणजी टीम का हिस्सा बनाया गया और 3 नवंबर 2009 को मध्य प्रदेश के खिलाफ डेब्यू किया।

IPL में एंट्री

इसी तरह 2018 में IPL Team Mumbai Indians ने उन्हें खरीद लिया, जहां उन्हें हरभजन सिंह से बहुत कुछ सीखने मिला, लेकिन उस सीजन में एक भी मैच खेलने को नहीं मिला।
पर उसी साल Champions League टी-20 के फ़ाइनल में मैच 9 रन देकर 2 अहम विकेट्स चटकाकर सबक़ों जता दिया कि वे दोयम दर्जे के खिलाड़ी नहीं, जो उन्हें समझा जाता था।
2018 में Royal Challengers ने उनपर पैसा लगाया, और उन्होंने जल्द ही बेहतरीन परफ़ोर्मेंस देते हुए उनपर लगे पैसे को सही साबित किया।
इस सीजन में उन्होंने 12 विकेट्स लिए।
यूजवेन्द्र कहते है,
चेस खिलाड़ी होने के कारण मैं बैट्समेन की रणनीति को जल्ही पढ़ लेता हूँ।
यहीं कारण था कि लगातार मेहनत और चेस के अनुभव से अपने बॉलिंग को दिनों-दिन नई ऊंचाइयों तक ले जाने में सफल रहे।
जिसका सुखद परिणाम 2018 के आईपीएल सीजन में देखने को मिला, जहां उन्होंने 21 विकेट्स चटकाएँ, जिससे वो भुवनेश्वर कुमार के बाद दूसरे लीड विकेट टेकर बने।

टीम इंडिया में एंट्री

इस बेहतरीन परफ़ोर्मेंस ने शीघ्र ही उन्हें 2018 में ज़िम्बाब्वे की ट्रिप पर जाने वाली Indian Cricket टीम के लिए टिकट कटा दिया। यहाँ उन्होंने संतुष्टपूर्ण परफ़ोर्मेंस दी।

करिश्माई गेंदबाजी

बेहतरीन परफ़ोमेंस और इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट और ODI सीरीज जीतने के बाद स्टार बॉलर रविन्द्र चंद अश्विन और रवीन्द्र जडेजा को रेस्ट दे दिया गया, जिनकी जगह इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैचों की टी-20 सीरीज में यूजवेन्द्र को लेगस्पिनर की तौर पर शामिल किया गया।
और उन्होंने तीसरे और अंतिम टी-20 मैच में करिश्माई बॉलिंग करते हुए चार ओवरों में मात्र 25 रन देकर 6 विकेट झटकें, जो किसी भी भारतीय का टी-20 में सर्वश्रेष्ठ बॉलिंग फिगर और वर्ल्ड क्रिकेट का अजंता मेंडिस (6/8, 6/16) के बाद तीसरा सर्वश्रेष्ठ बॉलिंग फिगर है।
इस परफ़ोमेंस के बदौलत एक बार मजबूत स्थिति में दिख रही इंग्लैंड को भारत ने 75 रनों की बड़ी अंतर से करारी हार दी।
भारत की शानदार जीत के बाद उन्होंने कहा,
मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि टी-20 में छह विकेट लूँगा। यह बहुत अच्छा रहा क्योंकि मैं पहली बार बेंगलुरु में भारत के लिए खेल रहा था। यहाँ बिलकुल घर जैसा लगता है। मैंने इससे पहले आईपीएल में भी पावरप्ले में बॉलिंग कई है, इसलिए Virat ने मुझ पर विश्वाश जताया।
मुझे पता था कि यह छोटा मैदान है इसलिए शुरुआत में इंग्लिश बेट्समेन रन बनाने के लिए जाएंगे, जिससे विकेट मिलने का मौका था। मैंने लंबी गेंदे फेंकी क्योंकि अगर स्वीप और रिवर्स स्वीप से वे चूकेंगे तो LBW होने के मौके बढ़ जाएंगे।

Personal Life

Professional Life में एक उम्दा बॉलर माने जाने वाले यजुंवेंद्र पर्सनल लाइफ में Friend Parties के लिए जाने जाते है। वे कभी फ्रेंड्स पार्टीज़ से दूर नहीं रहते है। आप उनकी पार्टियों की झलक आसानी से social sites पर देख सकते है। इन पार्टियों में एक खास Friend (Girl) हमेशा दिखती है, पर उनके बारे में कभी कोई News Out नहीं हुआ।
खैर यूजवेन्द्र की दोस्ती ऑस्ट्रेलिया और रॉयल चैलेंजर बैंगलोर के सीनियर बॉलर मिशेल स्टार्क से खूब जमती है।

Quick Fact

Bio Data

Name – Yuzvendra Chahal
Full Name – Yuzvendra Singh Chahal
Date of birth – 23 July 1990
Age – 26 Years (2018)
Place of birth – Jind, Haryana
Height– 5’6”
Weight – 62 Kg
Playing Role – Bowler
Batting Style – Right Hand Bat
Bowling Style – Legbreak Googly

Family

Father – KK Chahal
Mother – Sunita Devi
Sister – 2 Elder Sisters
Girlfriend – NA
If you like it, please share and comments 🙂